शुक्रवार, 3 अप्रैल 2009

हर पल तेरी याद के साथ

हर पल तेरी याद के साथ

जिंदगी में मिले चाहे जीत
चाहे मिल जाए मुझे हार
पर गुजारिश है उस खुदा से
हर वक्त मिलता रहे मुझे तेरा प्यार
चाहे हो हीरे मोती चाहे हो मेरे खली हाथ
दुआ बस यही है उस खुदा से
जिंदगी गुजरे हर पल तेरी याद के साथ..........
हर पल तेरी याद के साथ...........

हालत बस में मेरे होंगे कल
इसका मुझे पता नही
मिल पायेगी कामयाबी कल
इसका मुझे पता नही
क्या हो पाएँगी पुरी हसरते मेरी कल
इसका मुझे पता नही
हा अगर चाहे जीवन में मेरे मुश्किलें हो लाख
पर फिर भी युही कट जाए मेरा वक्त हर पल तेरी याद के साथ..........
हर पल तेरी याद के साथ...........

हर राह में मिलेंगे मुझे कांटे और फूल
कोशिश बस यही रहेगी की हो मुझसे कोई भूल
हो मेरे आस-पास चाहे हजारो गुल
भूल कर भी छु पे मुझे कोई शूल
हो जायेंगे हजारो के अरमान जो ख़ाक
पर वो हालत भी गुजरेंगे मेरे हर पल तेरी याद के साथ..........
हर पल तेरी याद के साथ...........

जितना ही सब कुछ नही होता
बहुत ज़रूरी होता है हारना
पाना ही सब कुछ नही होता
बहुत जरुरी होता है खोकर भूल पाना
चाहे हो जाए मेरे दिल में लाखो सुराख
फिर भी कट जायेगी मेरी ज़िन्दगी, हर पल तेरी याद के साथ..........
हर पल तेरी याद के साथ...........

इकरार मुश्किल होता नही
पर इकरार सबकी तकदीर में होता नही
इनकार से ही सबको डर लगता है ऐसा नही
पर हर वक्त हो इंतज़ार ऐसा ज़रूरी नही
तसव्वुर में दीदार हो उनका ये बात मामूली नही
पर हर वक्त उन्हें देखना ये हमारे लिए मुमकिन नही
लाख भूलने की कोशिश करले ये ज़माना फिर भी
सुनायेंगे हम रोकर अपनी ही प्रीत की गाथ
क्योकि मेरी ज़िन्दगी तो उजर रही है
हर पल तेरी याद के साथ..........
हर पल तेरी याद के साथ...........

3 टिप्‍पणियां:

chirag ने कहा…

acchi jai but still i say ke kafi lambi hai and last paragraph me maja nhi aaya

Lokesh Pidawekar ने कहा…

ye 3 saal pehle ki hai
isme change karna thik nahi laga isliye as it is publish ki hai

chirag ने कहा…

@lokesh
matlab 3 saal pahle kuch esa hua hai tere sath....